Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Sunday, 16 June 2024

World

कर्ज का मायाजाल और खस्ताहाल पाकिस्तान, आर्थिक हालात और भी भयावह

10 February 2023 11:14 AM Mega Daily News
पाकिस्तान,बेलआउट,पैकेज,मुताबिक,मुद्रा,बातचीत,सरकार,विदेश,भंडार,गुरुवार,मिलने,रुकावट,एमईएफपी,प्रोग्राम,आईएमएफ,,illusion,debt,decaying,pakistan,economic,situation,even,frightening

कंगाली के कगार पर खड़े पाकिस्तान (Pakistan) को एक और झटका लगा है. पाकिस्तान का विदेश मुद्रा भंडार (Pakistan Forex Reserve) गिरकर 3 बिलियन डॉलर से भी कम हो गया है. गुरुवार को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, पाकिस्तान का विदेश मुद्रा भंडार 2 अरब 91 डॉलर पर पहुंच गया जोकि पिछले 9 साल 3 महीने के सबसे कम है. बेलआउट पैकेज को लेकर पाकिस्तान की IMF के साथ अब तक बात नहीं बन पाई है. IMF पाकिस्तान के सामने नई-नई शर्तें रख रहा है. पाकिस्तान को उसकी आर्मी का बजट भी कम करने के लिए कहा गया है. ऐसे में अगर बेलआउट पैकेज पाकिस्तान को नहीं मिलता है तो यहां के आर्थिक हालात और भी भयावह हो सकते हैं.

IMF बेलआउट पैकेज मिलने में आई ये रुकावट

बता दें कि नकदी की दिक्कत से गुजर रहे पाकिस्तान को बेलआउट पैकेज मिलने में बार-बार रुकावट आ रही है. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से बेलआउट पैकेज जारी करवाने को लेकर चल रही बातचीत में एक रोड़ा अटक गया है. गुरुवार को आई एक रिपोर्ट के मुताबिक, एक्सटर्नल फंडिंग प्रोजेक्शन पर दोनों पक्ष बात नहीं कर पाए हैं. पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़ती हुई दिख रही हैं.

बढ़ गई पाकिस्तान की मुश्किल

एक सीनियर अफसर ने कहा कि बुधवार रात तक उन्हें एमईएफपी मसौदा नहीं मिला. 2019 में इमरान खान सरकार के दौरान पाकिस्तान IMF के 6 अरब डॉलर प्रोग्राम का हिस्सा बना था. फिर इसे साल 2022 में बढ़ाकर 7 अरब डॉलर कर दिया गया था. 1.18 अरब डॉलर जारी करने के लिए प्रोग्राम की 9वीं समीक्षा पाकिस्तान सरकार और  आईएमएफ अधिकारियों के बीच होना बाकी है.

IMF से नहीं बन पा रही बात!

वित्त और राजस्व राज्य मंत्री आएशा गौश पाशा के मुताबिक, हम इसको पूरा करने के करीब हैं. उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान को एक बार आईएमएफ एमईएफपी दे दे, फिर सभी मुद्दों पर बातचीत पूरी हो जाएगी. उनके मुताबिक, कई मुद्दों पर बातचीत पूरी हो चुकी है. IMF को उनमें से कुछ पर स्पष्टता चाहिए. इन पर पाकिस्तान सरकार के लोग काम कर रहे हैं.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News