Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Friday, 12 April 2024

World

दुनियाभर के शहरों की टॉप लिस्ट में 19वें नंबर पर पहुंचा मुंबई, लोकल ट्रेन की वजह से मिली यह सौगात, जानिए

08 April 2023 04:21 PM Mega Daily News
लिस्ट,मुंबई,शहरों,ट्रांसपोर्ट,स्थानीय,पब्लिक,शामिल,लोगों,यात्रा,सिस्टम,ट्रेन,अलावा,सार्वजनिक,परिवहन,प्रणाली,mumbai,reached,number,19,top,list,cities,around,world,got,gift,local,train,know

दुनिया के सबसे अच्छे पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम वाले शहरों की लिस्ट में मुंबई को 19वां स्थान मिला है। शहर के जटिल स्थानीय ट्रेन नेटवर्क और चलो पे ऐप की शुरुआत की वजह से मुंबई को यह स्थान हासिल हुआ है। इस लिस्ट में शामिल होने वाला मुंबई एकमात्र भारतीय शहर है।

टाइम आउट ने यह लिस्ट जारी की है। इसके मुताबिक, मुंबई के 81 प्रतिशत स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्हें शहर का पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम उपयोग करने में सुविधाजनक लगता है। मुंबई की लोकल ट्रेन से हर दिन लाखों लोग यात्रा करते हैं। इसके अलावा, यहां ऑटो रिक्शा, बस सर्विस और टैक्सी से ट्रैवल करने वालों की संख्या भी काफी ज्यादा है। लिस्ट में शहर की इन पब्लिक ट्रांसपोर्ट सर्विस का भी उल्लेख किया गया है।

लिस्ट में कहा गया है, “क्या आप मुंबई गए हैं यदि आपने यहां की लोकल ट्रेन में समय नहीं बिताया है? 81 प्रतिशत स्थानीय लोगों का कहना है कि सार्वजनिक परिवहन द्वारा मुंबई में ट्रैवल करना आसान है और यह प्रणाली निश्चित रूप से महानगर में चलती रहेगी, जिसमें लाखों लोग शहर की बसों, रिक्शा, मेट्रो और टैक्सियों का दैनिक आधार पर उपयोग करते हैं। शहर ने चलो पे ऐप भी पेश किया है, जो भारतीय सार्वजनिक परिवहन के लिए अग्रणी और सभी चीजों को थोड़ा सा आसान बना रहा है।”

मुंबई के अलावा, जापान, ताइवान और चीन समेत अन्य एशियाई देशों के शहरों को भी लिस्ट में शामिल किया गया है। लिस्ट में जगह बनाने वाले छह अन्य एशियाई शहरों में टोक्यो (तीसरे नंबर पर), सिंगापुर (छठे नंबर पर), हांगकांग (सातवें नंबर पर), ताइपे (आठवें नंबर पर), शंघाई (नौवें नंबर पर) और बीजिंग (18वें नंबर पर) हैं।

लिस्ट में शामिल यूरोपीय शहरों में बर्लिन (पहले नंबर पर), प्राग (दूसरे नंबर पर), कोपेनहेगन (चौथे नंबर पर), स्टॉकहोम (पांचवें नबर पर), एम्स्टर्डम (10वें नंबर पर), लंदन (11वें नंबर पर), मैड्रिड (12वें नंबर पर), एडिनबर्ग (13वें नंबर पर) और पेरिस (14वें नंबर पर) न्यूयॉर्क (15वें नंबर पर), मॉन्ट्रियल (16वें नंबर पर), और शिकागो (17वें नंबर पर) सूची में उत्तर अमेरिकी शहर शामिल हैं।

टाइम आउट ने दुनियाभर के 50 से ज्यादा शहरों में 20,000 से अधिक स्थानीय लोगों का सर्वेक्षण किया गया और उनसे सवाल किया गया कि क्या पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम के जरिए यात्रा करना उनके आसान रहा, जिसके आधार पर लिस्ट तैयार की गई। 19 चुनिंदा शहरों में पांच में से कम से कम चार लोगों ने स्थानीय आवागमन प्रणालियों की प्रशंसा की।

सूची में शहरी परिदृश्य में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली की महत्वपूर्ण भूमिका पर प्रकाश डाला गया है। इसमें ट्रांसपोर्ट प्रणाली को इस पर भी देखा गया कि क्या यह किफायती यात्रा विकल्प प्रदान करने के अलावा, शहरों की बढ़ती ट्रैफिक समस्याओं को कम करने के साथ कार्बन फुटप्रिंट्स को कम करने में भी मदद करता है। कुछ मामलों में उनके सौंदर्यकरण संबंधी पहलुओं पर भी ध्यान दिया गया, जिसकी वजह से लोग इनसे यात्रा करके अनुभव लेते हैं।

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News