Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Wednesday, 17 April 2024

States

तेज रफ्तार वाली ट्रैन का ट्रेनसेट गुजरात के सावली में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम को सौंपा

08 May 2022 03:14 PM Mega Daily News
ट्रेन,आरआरटीएस,एनसीआरटीसी,प्रति,ट्रांजिट,प्रणाली,कॉरिडोर,एल्सटॉम,आवासीय,उन्होंने,उम्मीद,जाएगा,किलोमीटर,परिचालन,ncrtc,trainset,high,speed,train,handed,national,capital,region,transport,corporation,savli,gujarat

NCRTC भारत का पहला रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम (RRTS) विकसित कर रही है, जो तेज रफ्तार वाली रीजनल यात्री परिवहन रेल प्रणाली है. इस तरह की पहली ट्रेन सराये काले खां-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर पर चलेगी. (Image Source: ANI)

आधुनिक सुविधाओं से युक्त इस ट्रेन को एल्सटॉम के गुजरात के सांवली स्थित प्लांट में एनसीआरटीसी को सौंपा गया है. एल्सटॉम इंडिया ने ट्रेन की चाबियां एनसीआरटीसी को सौंपी. इस अवसर पर आवासीय एवं शहरी मामलों के मंत्रालय में सचिव मनोज जोशी भी मौजूद थे.

इस अवसर पर आवासीय एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने अपने वीडियो संदेश में कहा कि नए दौर की यह ट्रांजिट प्रणाली तेजी से होते शहरीकरण का प्रबंधन करने में भी मददगार होगी. उन्होंने उम्मीद जतायी कि इस प्रोजेक्ट के पहले चरण की शुरुआत अपने निर्धारित समय पर हो जाएगा.

जोशी ने कहा कि यह सराहनीय बात है कि आयात करने के बजाय सभी मेट्रो और आरआरटीएस ट्रेनों का विनिर्माण भारत में ही हुआ है. दिल्ली-मेरठ के बीच के किराये के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अभी यह तय नहीं किया गया है, लेकिन किराया यात्रियों की सुविधा एवं राजस्व को ध्यान में रखते हुए ही तय किया जाएगा.

एनसीआरटीसी के अधिकारियों ने कहा कि ये भारत की सबसे तेज गति से चलने वाली ट्रेनें होंगी और इन्हें इस तरह बनाया गया है कि इनकी अधिकतम गति 180 किलोमीटर प्रति घंटा, परिचालन गति 160 किमी प्रति घंटा और औसत गति 100 किमी प्रति घंटा रहेगी. बयान के मुताबिक, आरआरटीएस के तहत 17 किलोमीटर लंबा पहला कॉरिडोर 2023 तक शुरू हो सकता है और पूरे गलियारे पर परिचालन 2025 तक शुरू होने की उम्मीद है.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News