Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Saturday, 20 July 2024

World

भारतीयों सहित विश्व के 50 शीर्ष विदेशी विश्वविद्यालयों के छात्रों के लिए ब्रिटेन सरकार ने किया नए HPI वीजा का ऐलान

31 May 2022 01:49 AM Mega Daily News
ब्रिटेन,श्रेणी,छात्रों,मेधावी,पेशकश,विश्वविद्यालयों,दुनियाभर,सर्वश्रेष्ठ,प्रतिभाओं,आकर्षित,सोमवार,पोटेंशियल,इंडीविजुअल,hpi,व्यवस्था,,uk,government,announces,new,visas,students,top,50,foreign,universities,world,including,indians

ब्रिटेन में सोमवार को नई 'हाई पोटेंशियल इंडीविजुअल' (HPI) वीजा व्यवस्था की शुरुआत की गई जिससे भारतीयों सहित विश्व के 50 शीर्ष विदेशी विश्वविद्यालयों के छात्रों को लाभ होगा. भारतीय मूल के मंत्रियों ऋषि सुनक (Rishi Sunak) और प्रीति पटेल (Preeti Patel) ने एक संयुक्त बयान में कहा कि इस नई श्रेणी का मकसद दुनियाभर से आने वाली सर्वश्रेष्ठ और मेधावी प्रतिभाओं को आकर्षित करना है. 

बिना जॉब ऑफर के जा सकते हैं UK

HPI वीजा श्रेणी के तहत सफल आवेदकों को दो साल के कार्य वीजा के साथ ही ऐसे लोगों को तीन साल के वीजा की पेशकश की जाएगी जो पीएचडी डिग्री धारक हैं. इस स्थिति में आवेदक के पास नौकरी की पेशकश का पत्र होने की अनिवार्यता भी नहीं रहेगी. ऋषि सुनक ने कहा, 'इस नई वीजा पेशकश का मतलब यह है कि ब्रिटेन दुनियाभर से सर्वश्रेष्ठ एवं मेधावी प्रतिभाओं को आकर्षित करना जारी रख सकता है.' 

ब्रिटेन को होगा ये फायदा 

उन्होंने कहा, 'इस श्रेणी का अर्थ है कि ब्रिटेन नवाचार, रचनात्मकता और उद्यमिता के लिए एक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय केंद्र के रूप में उभरेगा. मैं छात्रों से यहां अपना करियर बनाने के इस अविश्वसनीय अवसर का लाभ उठाने का आह्वान करता हूं.' इस वीजा श्रेणी का मकसद हार्वर्ड, स्टैनफोर्ड और एमआईटी जैसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों से विज्ञान, अभियांत्रिकी और चिकित्सा अनुसंधान में स्नातक मेधावी छात्रों को ब्रिटेन आने के लिए प्रोत्साहित करना है.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News