Breaking News
हेमा मालिनी और धर्मेंद्र पर टूटा दुखो का पहाड़, बेटी को लेकर आयी बेहद बुरी खबर, पूरा परिवार सदमे में मात्र 417 रुपये का निवेश बना सकता है करोड़पति, हो जायेंगे मालामाल, ऐसे समझे इन्वेस्टमेंट गणित Ration Card New Rule : मुफ्त राशन पर बदल गया नियम, गेहूं और चावल के लिए जरूरी करें यह काम Gold-Silver Price Today : सुबह – सुबह धड़ाम हुए सोने के दाम, खरीददारी करने टूटे लोग, गिरकर 47 हजार के नीचे पहुंच रेट Govt Job Vaccany : दिल्ली होम गार्ड में 10 हजार पदों पर जबरदस्त भर्ती, 10वीं पास करें अप्लाई,
Monday, 26 February 2024

World

अब तालिबानियों ने अफगानी महिलाओं के काम करने पर भी लगाई पाबंदी

25 December 2022 12:56 AM Mega Daily News
महिलाओं,सरकार,तालिबानी,अफगानिस्तान,एंट्री,नौकरी,संगठनों,खिलाफ,यूनिवर्सिटी,देशों,अधिकारों,महिला,कर्मचारियों,विरोध,प्रतिबंध,,taliban,banned,work,afghan,women

अफगानिस्तान सरकार एक बाद एक, महिलाओं से उनके अधिकारों को छीनते जा रही है. अफगानिस्तान की यूनिवर्सिटीज में महिलाओं की एंट्री बैन करने के बाद अब उनकी नौकरी पर भी पाबंदी लगा दी गई है. तालिबानी हुकूमत ने अपने नए फरमान में सभी स्थानीय और विदेशी गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) में काम करने वाली महिलओं की नौकरी छीन ली है. सरकार ने इन संगठनों में काम करने वाली महिला कर्मचारियों के लिए काम पर आने से रोकने का आदेश जारी किया है.

सवाल है कि आखिर क्यों महिलाओं के अधिकारों की बात करने वाली तालिबानी सरकार ने अचानक अपने देश में महिलाओं के खिलाफ इतना कड़ा फैसला लिया? दरअसल, हालिया घटना को लेकर एक पत्र में बताया गया है कि महिला कर्मचारियों को अगली सूचना तक काम पर आने से मना कर दिया गया है, क्योंकि कुछ महिलाओं ने सरकार द्वारा बनाए गए इस्लामी ड्रेस कोड को फॉलो नहीं किया था.

आसान शब्दों में कहें तो नौकरी करने वाली कुछ महिलाओं ने अफगानिस्तान की तालिबानी सरकार के खिलाफ जाकर कपड़े पहने थे, इसलिए सरकार ने उनके काम करने पर ही रोक लगा दी है. तालिबानी सरकार का ये आदेश यूनिवर्सिटी में महिलाओं की एंट्री को बैन करने के कुछ दिनों बाद आया है. यूनिवर्सिटी में महिलाओं की एंट्री पर रोक लगाए जाने के बाद दुनियाभर में अफगानिस्तान की आलोचना हुई. 

वहीं, कुछ संगठनों ने अफगानिस्तान में भी विरोध के स्वर बुलंद किए. हालांकि, यूनिवर्सिटी में महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाए जाने का विरोध कर रही महिलाओं को तितर-बितर करने के लिए तालिबानी सुरक्षा बलों ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. अफगान महिलाओं ने प्रतिबंध के खिलाफ प्रमुख शहरों में प्रदर्शन किया है.

सऊदी अरब, तुर्की, संयुक्त अरब अमीरात और कतर जैसे देशों के साथ-साथ अमेरिका और जी-7 के देशों ने भी तालिबानी सरकार के फैसले की निंदा की है. ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, जापान और ब्रिटेन सहित कई देशों ने तालिबान के इस फैसले को महिलाओं और लड़कियों की स्वतंत्रता पर ‘क्रूर हमला’ बताया.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News