Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Thursday, 18 July 2024

Sports

2036 में फीफा से भी कई गुना बड़े ओलंपिक खेल की मेजबानी भारत करेगा, 2036 में होंगे ये ओलंपिक गेम्स

29 November 2022 12:50 AM Mega Daily News
ओलंपिक,आयोजन,अहमदाबाद,स्टेडियम,गुजरात,करवाने,इंटरनेशनल,कमेटी,मुंबई,सदस्य,नरेंद्र,ahmedabad,वोटिंग,अधिकार,दुनिया,,2036,india,host,olympic,games,many,times,bigger,fifa,held

फिलहाल पूरी दुनिया में फुटबॉल वर्ल्ड कप का खुमार चढ़ा हुआ है. लेकिन फीफा से भी कई गुना बड़ा खेल आयोजन ओलंपिक होता है. वर्ष 2036 (Olympics 2036) में भारत में ओलंपिक करवाने की तैयारी हो रही है. वैसे तो वर्ष 2036 आने में अभी 14 वर्ष बचे हैं लेकिन ओलंपिक खेल इतना बड़ा होता है कि इसके आयोजन की तैयारी एक दशक पहले ही शुरू करनी होती है. ओलंपिक का ये आयोजन वर्ष 2036 में गुजरात (Gujarat) में करवाने की योजना है. इस पर लगातार काम भी हो रहा है.

अहमदाबाद में हो सकते हैं ओलंपिक गेम्स!

इस वर्ष सितंबर में अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में 36वें राष्ट्रीय खेल का उद्घाटन समारोह हुआ था. इसके साथ ही गुजरात के अलग-अलग शहरों में ये राष्ट्रीय खेल हुए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका उद्घाटन किया था. अब कल्पना कीजिए कि अभी वर्ष 2036 है और अहमदाबाद के उसी स्टेडियम में ओलंपिक खेल का एक उद्घाटन समारोह हो रहा हो. ये एक ऐसा सपना है, जो खेल जगत में भारत को नई ऊंचाई तक पहुंचाएगा. 

जैसे अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में भारत एक बड़ी शक्ति के तौर पर उभर रहा है और अगले वर्ष भारत में ही G-20 की बैठक होगी. वैसे ही 2036 में ओलंपिक का आयोजन करके भारत दुनिया में खेल की एक महाशक्ति के तौर पर भी उभरेगा.

बीजेपी ने गुजरात चुनाव संकल्प पत्र में किया वादा

बीजेपी ने गुजरात (Gujarat) विधानसभा के लिए जारी अपने संकल्प पत्र में वर्ष 2036 में ओलंपिक खेल (Olympics 2036) गुजरात में करवाने का वादा किया है. बीजेपी ने अपने संकल्प पत्र में कहा कि गुजरात में ओलंपिक मिशन लॉन्च करेंगे और वर्ष 2036 में ओलंपिक खेलों की मेजबानी के उद्देश्य से राज्य में विश्व स्तरीय खेल का बुनियादी ढांचा तैयार करेंगे.

बीते कुछ वर्षों से अहमदाबाद (Ahmedabad) में ओलंपिक खेल का आयोजन करवाने के लिए लगातार काम हो रहे हैं. इसी कड़ी में इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी का सेशन वर्ष 2023 में मुंबई में आयोजित होगा. इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी के सेशन के लिए भी बोली लगती है, भारत ने इस बोली को जीत लिया है. इस समय इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी में 102 सदस्य है और 45 ऑनरेरी सदस्य (honorary member) हैं. ऑनरेरी सदस्य वो होते हैं जिन्हें वोटिंग के अधिकार नहीं होते हैं.

वर्ष 2023 में मुंबई में होगी IOC की बैठक

मुंबई में होने वाले इंटरनेशनल ओलंपिक सेशन में भारत में ओलंपिक करवाने को लेकर चर्चा और वोटिंग हो सकती है. सामान्य तौर पर इंटरनेशनल ओलंपिक सेशन में ही ओलंपिक के आयोजन, कमेटी के सदस्यों और ओलंपिक के संविधान या चार्टर या नए खेलों को शामिल करने या हटाने को लेकर फैसले लिए जाते हैं. 75 वर्षों में दूसरी बार ये बैठक भारत में होगी. इससे पहले 1983 में ये बैठक भारत में हुई थी. ऐसे में 40 वर्ष के बाद मुंबई में हो रही ये बैठक बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है.

आखिर कैसे मिलती है ओलंपिक की दावेदारी

ओलंपिक के आयोजन का अधिकार कैसे मिलता है, इससे जुड़ी दिलचस्प जानकारी अब आपको बताते हैं. ओलंपिक के लिए सदस्य देश बोली लगा सकते हैं. लेकिन यहां आपको ये जानना चाहिए कि जब कोई देश अपने यहां आयोजन करवाना चाहता है तो उस देश का एक शहर बोली लगाता है. जैसे अगर भारत में आयोजन होगा है तो ये बोली मुंबई या अहमदाबाद (Ahmedabad) लगाएगा. जैसे 2012 की बोली लंदन शहर ने जीती थी. वैसे भारत की ओर से अहमदाबाद शहर ही ओलंपिक के लिए बोली लगाएगा. आयोजन के लिए जो देश बोली लगाता है, उस देश को वोटिंग का अधिकार नहीं होता है. बाकी हर सदस्य देश के पास 1 वोट का अधिकार होता है और वोटिंग सीक्रेट होती है.

इन शर्तों को पूरा करना होता है जरूरी

जो शहर बोली लगाता है, उसे बोली जीतने के लिए कुछ आवश्यक शर्तें पूरी करनी होती हैं. जैसे शहर का इंफ्रास्ट्रक्चर कैसा है, वहां खेल का आयोजन हो सकता है कि नहीं. स्टेडियम कितने और कितने बड़े हैं. शहर में आयोजन के दौरान बाहर से आने वाले लोगों के रहने और दूसरी सुविधाएं कितनी ज्यादा हैं.

दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम गुजरात में

अहमदाबाद (Ahmedabad) में विश्व का सबसे बड़ा स्टेडियम नरेंद्र मोदी स्टेडियम है, जो सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोटर्स कॉम्लेक्स में है. नरेंद्र मोदी स्टेडियम में एक लाख पंद्रह हज़ार दर्शक बैठक सकते हैं. जबकि दूसरे कर्मचारियों और पदाधिकारियों की उपस्थिति के साथ इस स्टेडियम की क्षमता एक लाख 32 हज़ार है. ओलंपिक के आयोजन के लिहाज से ये पूरा कॉम्प्लेक्स बेहद आधुनिक और सुविधाओं से लैस है. 

कई नए स्टेडियमों पर चल रहा है काम

इसके साथ ही नारणपुरा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का भी काम शुरू हो चुका है, जो 500 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा. गृह मंत्री अमित शाह ने इसी वर्ष इस कॉम्पलेक्स का शिलान्यास किया है. इन्हीं दोनों कॉम्पलेक्स में ओलंपिक के अधिकांश खेल होने की संभावना है.

2025 में ओलंपिक कमेटी की ओर से एक अधिकारी पूरी तैयारियों को देखने और जांचने के लिए भारत आएंगे. ओलंपिक की तैयारियों को लेकर पहले से ही दो एजेंसियां अहमदाबाद (Ahmedabad) में काम कर रही हैं.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News