Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Friday, 12 April 2024

Sports

शोएब अख्तर मुंहफट हैं, लेकिन दिल के साफ हैं-शोएब मलिक, बाबर आजम की अंग्रेजी कमजोर होने वाले बयान पर बोले सानिया मिर्जा के पति

03 March 2023 08:56 PM Mega Daily News
पाकिस्तान,पूर्व,अख्तर,उन्होंने,लेकिन,क्रिकेट,कप्तान,टिप्पणी,उन्हें,क्रिकेटर,चीजें,गेंदबाज,उड़ाया,अंग्रेजी,अच्छी,shoaib,akhtar,outspoken,pure,heart,malik,sania,mirzas,husband,babar,azams,statement,english,weak

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कुछ दिन पहले बाबर आजम का यह कहकर मजाक उड़ाया था कि उनकी अंग्रेजी बहुत अच्छी नहीं है। इस कारण वह इतना बड़ा ब्रांड नहीं बन पाए, जितना बड़े विराट कोहली या एबी डिविलियर्स हैं। शोएब अख्तर की इस टिप्पणी के बाद उनकी काफी आलोचना हुई थी।

कामरान अकमल, पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी जैसे पाकिस्तान के कई पूर्व क्रिकेटर्स ने उन्हें अपने कप्तान का मजाक नहीं बनाने की सलाह दी थी। इसके बाद शोएब अख्तर की इस मामले में सफाई भी आई थी। उन्होंने कहा था कि उनका मकसद किसी की बेइज्जती करना नहीं था।

अब इसी मुद्दे पर भारतीय टेनिस स्टार के पति और पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शोएब मलिक की टिप्पणी आई है। शोएब मलिक का कहना है कि शोएब अख्तर ब्लंट यानी मुंहफट तो हो सकते हैं लेकिन दिल के बुरे नहीं हैं।

शोएब मलिक ने कहा, मुझे अब तक जो बात समझ में आई वह यह है… क्योंकि मैं उनके साथ बहुत खेला हूं, रहा हूं तो जहां तक मैं उन्हें जानता हूं कि जब भी वह कोई स्टेटमेंट (टिप्पणी) देते हैं तो बहुत ब्लंटली देते हैं लेकिन उनका जो दिल है वह बहुत साफ है और वह किसी को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों में से नहीं हैं।

ने आगे कहा, अगर उन्होंने वह बात बोली है, यह वह जिस तरफ जा रही है तो उसका हरगिज यह मतलब नहीं था। उन्होंने कहा कि यह डिमांड (समय की मांग) है, यह रिक्वायरमेंट (जरूरत) है कि अगर आप बहुत अच्छे क्रिकेटर हैं, वर्ल्ड क्लास क्रिकेटर हैं तो ये चीजें भी आपको साथ साथ में जरूर करनी चाहिए और यह जरूरत भी है।

उन्होंने ने कहा, … लेकिन उनका यह मतलब नहीं है कि अगर आपको इंग्लिश नहीं आती तो आप किसी से कम हो गए, कमजोर हो गए, मैं ऐसा बिल्कुल नहीं समझता, लेकिन लर्निंग प्रोसेस कभी नहीं खत्म होता। और रही बात बाबर की तो वह क्रिकेट के अलावा दूसरी चीजें भी करता है। साथ में यह भी कर रहा है।

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News