Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Thursday, 18 April 2024

States

DigiLocker : गाड़ी चलाते समय DL, RC या बीमा नहीं है तो टेंशन न ले, अब ये बचाएगा आपका चालान कटने से

19 April 2022 11:33 PM Mega Daily News
दस्तावेजों,करें,ड्राइविंग,डिजिलॉकर,मोबाइल,सुरक्षित,पंजीकरण,प्रमाण,द्वारा,लाइसेंस,विभाग,जाएगा,पुलिस,digilocker,डिजिटल,dl,rc,insurance,driving,take,tension,save,challan,deducted

यदि आप वाहन चलाते समय ड्राइविंग लाइसेंस, पंजीकरण प्रमाण पत्र या वाहन बीमा अपने पास नहीं रखते हैं तो भी ट्रैफिक पुलिस आपका चालान नहीं काट पाएगी। आप इन सभी दस्तावेज़ों को DigiLocker में सहेज सकते हैं और पुलिस द्वारा रोके जाने पर आप इन डिजिटल दस्तावेज़ों को दिखा सकते हैं

वाहन चालकों के लिए अच्छी खबर है। अब आपको अपने साथ ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट ले जाने की जरूरत नहीं है। अब ड्राइवर ट्रैफिक पुलिस और परिवहन विभाग के कहने पर डिजी-लॉकर प्लेटफॉर्म या एम-परिवहन मोबाइल ऐप पर डिजिटल रूप में रखे इन दस्तावेजों को दिखा सकते हैं। इसमें दस्तावेजों को सुरक्षित रखने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको अपने किसी दस्तावेज की हार्ड कॉपी अपने पास रखने की जरूरत नहीं है। और निश्चित रूप से उन्हें खोने का कोई डर नहीं होगा। तो आइए जानते हैं डिजिलॉकर को इस्तेमाल करने की प्रक्रिया।

डिजी-लॉकर होगा मान्य

दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग द्वारा जारी नोटिस के अनुसार Digi-Lockerप्लेटफॉर्म या एम-परिवहन मोबाइल ऐप पर डिजिटल प्रारूप में रखे गए ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन पंजीकरण प्रमाण पत्र मोटर वाहन अधिनियम, 1988 के तहत वैध दस्तावेज हैं। विभाग ने कहा कि ये परिवहन विभाग द्वारा जारी प्रमाण पत्र के अनुसार कानूनी रूप से मान्य हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसी अन्य रूप में ड्राइविंग लाइसेंस और पंजीकरण प्रमाण पत्र की सॉफ्ट कॉपी मूल रिकॉर्ड के रूप में स्वीकार नहीं की जाएगी।

डिजिलॉकर क्या है

डिजिलॉकर एक ऐसा तरीका है जिसके तहत आप अपने ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन पंजीकरण प्रमाणपत्र जैसे दस्तावेजों को सुरक्षित रख सकते हैं और सुरक्षित रख सकते हैं। इसे इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा लॉन्च किया गया है। दरअसल यह डिजिलॉकर आपके आधार कार्ड और फोन नंबर से जुड़ा हुआ है। इसमें आप अपने दस्तावेजों की स्कैन कॉपी को पीडीएफ, जेपीईजी या पीएनजी फॉर्मेट में अपलोड कर सेव कर सकते हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप इन दस्तावेजों पर ई-साइन भी कर सकते हैं। यह बिल्कुल सेल्फ अटैच्ड फिजिकल डॉक्यूमेंट की तरह काम करता है।

ऐप में सुरक्षित करने की प्रक्रिया क्या है

अगर आप डिजिलॉकर एप में अपने वाहन के दस्तावेज सुरक्षित रखना चाहते हैं तो इसके लिए जो प्रक्रिया अपनाई जाती है वह बेहद आसान है जो हम आपको स्टेप बाय स्टेप बताने जा रहे हैं।

जानिए उपयोग की पूरी प्रक्रिया

1. इसके लिए आपको सबसे पहले DigiLocker की वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद अपने स्मार्टफोन में डिजिलॉकर एप डाउनलोड करें।

2. अब आप अपने आधार कार्ड या मोबाइल नंबर से अपनी यूजर आईडी बनाएं। अब आपके नंबर पर एक ओटीपी भी आएगा।

3. ऐप ओपन होने के बाद आपको Get Started का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर टैप करें।

4. इसके बाद Create Account पर टैप करें। इसके बाद आपको अपना नाम, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, सिक्योरिटी पिन, ईमेल आईडी और आधार नंबर डालने के लिए कहा जाएगा।

5. यह सब करने के बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। इस ओटीपी को ऐप में सबमिट करें।

6. फिर आपको एक यूजरनेम बनाने के लिए कहा जाएगा। यहां आप अपनी पसंद का कोई भी यूजरनेम बना सकते हैं। इसके बाद सबसे नीचे OK पर टैप करें। आपका अकाउंट बन जाएगा।

7. अब आपके सामने DigiLocker का इंटरफेस खुल जाएगा। फिर यहां आप जिस भी डॉक्यूमेंट को सेव करना चाहते हैं उस पर क्लिक करें।

8. इसके बाद आपके सामने एक पॉप-अप आएगा जिसमें आपसे आपकी अनुमति मांगी जाएगी। कृपया इस पर ठीक है।

9. OK करने के बाद आपको एक बार फिर से OTP आएगा उसे दर्ज करें। इसके बाद जारी रखें पर टैप करें.

10. इसके बाद आप देख पाएंगे कि आपका आधार कार्ड आपके जारी किए गए दस्तावेजों में सेव हो गया है।

11. इसी तरह आप अपना पैन कार्ड, एलआईसी, ड्राइविंग लाइसेंस, स्कूल सर्टिफिकेट आदि यहां सेव कर पाएंगे।

12. आप इन दस्तावेजों को साझा भी कर सकेंगे। ये पीडीएफ फॉर्मेट में सेंडर के पास जाएंगे।

 

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News