Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Friday, 21 June 2024

CRIME

उमेश पाल हत्याकांड में माफिया अतीक अहमद के भाई की मुश्किलें बढ़ीं

10 March 2023 12:03 AM Mega Daily News
बरेली,हत्याकांड,माफिया,मिलने,सुरक्षा,गिरफ्तार,पुलिस,प्रयागराज,मामले,सामने,गौरतलब,सद्दाम,इलाके,रिश्ता,बदमाशों,,mafia,atiq,ahmeds,brothers,difficulties,increased,umesh,pal,murder,case

माफिया अतीक अहमद के साथ रिश्ता रखने वाले बदमाशों की भी मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. खबर है कि अब बरेली जिला जेल में बंद अतीक अहमद के भाई को जेल के अंदर किसी से भी मिलने की इजाजत नहीं है. जिला जेल प्रशासन ने अशरफ के किसी से भी मिलने पर रोक लगा दी है. जेल अधीक्षक राजीव शुक्ला के मुताबिक इस रोक को अशरफ की सुरक्षा के चलते गया है. आपको बता दें कि दो दिन पहले अशरफ को वीवीआइपी ट्रीटमेन्ट देने वाले बंदीरक्षक शिवहरि और दयाराम को गिरफ्तार किया गया था. ये जेल में अशरफ को मोबाइल मुहैया कराते थे जिससे जेल की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो गए थे. बरेली पुलिस के रडार पर अभी कई और आदमी है जिनके ऊपर बड़ी कार्रवाई जल्द की जाएगी. 

क्या है पूरा मामला?

प्रयागराज में हुए उमेश पाल हत्याकांड मामले में अतीक अहमद का नाम सामने आने के बाद इसका कनेक्शन बरेली की जेल से भी जोड़ा जा रहा है. सूत्रों की मानें तो बरेली की जेल में बंद अतीक अहमद का भाई भी हत्या की प्लानिंग में शामिल था. गौरतलब है कि अशरफ को जेल में वीवीआईपी सुविधा पहुंचाने के लिए दो बंदी रक्षकों को भी गिरफ्तार किया गया है. दूसरे FIR में सद्दाम के नाम का जिक्र किया गया है. आपको बता दें कि सद्दाम, अतीक अहमद के भाई अशरफ का साला है.

इलाके में खौफ

सद्दाम ने बरेली में ही फर्जी नाम के सहारे एक मकान किराए पर लिया था. जब पुलिस इसके तह तक पहुंचने की कोशिश कर रही थी तब उन्होंने उस मकान के इलाके में पूछताछ की लेकिन कोई भी कुछ कहने को तैयार नहीं है. आपको बता दें कि 24 फरवरी को प्रयागराज में उमेश पाल हत्याकांड को कुछ शूटर्स ने मिलकर अंजाम दिया था जिसमें माफिया अतीक अहमद का भी नाम सामने आया है. गौरतलब है कि उमेश पाल राजू हत्याकांड मामले में मुख्य गवाह था.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News