Breaking News
माधुरी दीक्षित के साथ जब इस अभिनेता ने कर दी थी गलत हरकत, फुट-फुटकर रोई थी माधुरी हेमा मालिनी और धर्मेंद्र पर टूटा दुखो का पहाड़, बेटी को लेकर आयी बेहद बुरी खबर, पूरा परिवार सदमे में मात्र 417 रुपये का निवेश बना सकता है करोड़पति, हो जायेंगे मालामाल, ऐसे समझे इन्वेस्टमेंट गणित Ration Card New Rule : मुफ्त राशन पर बदल गया नियम, गेहूं और चावल के लिए जरूरी करें यह काम Gold-Silver Price Today : सुबह – सुबह धड़ाम हुए सोने के दाम, खरीददारी करने टूटे लोग, गिरकर 47 हजार के नीचे पहुंच रेट
Friday, 01 March 2024

CRIME

मैकडोनाल्ड की फ्रेंचाइजी के नाम पर 35 लाख रुपये ठगने वाले वाले के खाते में निकले महज इतने रुपये

26 March 2023 11:04 AM Mega Daily News
रुपये,मैकडोनाल्ड,उन्होंने,फ्रैंचाइजी,पुलिस,बताया,जनवरी,उन्हें,ऋषिकेश,प्रशांत,जमदग्नि,बिहार,आरोपियों,चारों,विभिन्न,,name,mcdonalds,franchisee,much,money,came,account,person,cheated,35,lakh,rupees

शातिरों ने मैकडोनाल्ड की फ्रैंचाइजी दिलाने के नाम पर ऋषिकेश के प्रशांत जमदग्नि से 35 लाख रुपये ठग लिए थे। इस मामले में पटना के चार ठगों को उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने बिहार से गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने आरोपियों के बैंक खाते में जमा साढ़े छह लाख रुपये फ्रीज कर दिए। वहीं, चारों से 12 सिमकार्ड, मोबाइल फोन और अन्य सामान बरामद किया है। चारों आरोपी बिहार के रहने वाले हैं, जो गिरोह बनाकर विभिन्न राज्यों में इसी तरह ठगी कर चुके हैं। उनके खिलाफ विभिन्न राज्यों में मुकदमे दर्ज हैं।

देहरादून एसटीएफ के एसएसपी आयुष अग्रवाल के अनुसार, आशुतोष नगर ऋषिकेश निवासी प्रशांत जमदग्नि ने शिकायत दर्ज करवाई थी। उसने बताया कि 10 जनवरी 2023 को उन्होंने मैकडोनाल्ड की फ्रेंचाइजी लेने के लिए इंटरनेट मीडिया पर सर्च किया। इस दौरान उन्हें एक वेबसाइट दिखी।

कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजर बन दिया झांसा

उक्त वेबसाइट पर दिए गए फोन नंबर पर उन्होंने संपर्क किया तो तरुण जायसवाल नामक व्यक्ति ने खुद को मैकडोनाल्ड का कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजर बताया और फ्रेंचाइजी लेने की प्रक्रिया बताते हुए आवदेन करने को कहा।

इसके बाद 16 जनवरी को उन्हें फोन आया। फोन करने वाले ने बताया कि मैकडोनाल्ड की फ्रैंचाइजी लेने के लिए आवेदन स्वीकार कर लिया गया है। इसके लिए ठगों ने उनके कुछ दस्तावेज मंगवाए।

31 जनवरी को राहुल मैथ्यू नाम के व्यक्ति का फोन आया। उसने रजिस्ट्रेशन के लिए दो लाख 65 हजार रुपये मांगे, जो उन्होंने जमा करवा दिए। दो फरवरी को दोबारा ईमेल आया। इस दौरान गर्वमेंट आफ इंडिया की एनओसी के लिए फार्म भरने के नाम पर उनसे नौ लाख 15 हजार रुपये जमा कराए गए।

10 फरवरी तक आरोपियों ने आशुतोष से 35 लाख 40 हजार रुपये ले लिए। इसके बावजूद उन्होंने फ्रैंचाइजी का सर्टिफिकेट नहीं दिया और धनराशि मांगते रहे। इसके बाद उन्हें संदेह हुआ और पुलिस के पास पहुंचे।

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News