Breaking News
माधुरी दीक्षित के साथ जब इस अभिनेता ने कर दी थी गलत हरकत, फुट-फुटकर रोई थी माधुरी हेमा मालिनी और धर्मेंद्र पर टूटा दुखो का पहाड़, बेटी को लेकर आयी बेहद बुरी खबर, पूरा परिवार सदमे में मात्र 417 रुपये का निवेश बना सकता है करोड़पति, हो जायेंगे मालामाल, ऐसे समझे इन्वेस्टमेंट गणित Ration Card New Rule : मुफ्त राशन पर बदल गया नियम, गेहूं और चावल के लिए जरूरी करें यह काम Gold-Silver Price Today : सुबह – सुबह धड़ाम हुए सोने के दाम, खरीददारी करने टूटे लोग, गिरकर 47 हजार के नीचे पहुंच रेट
Friday, 01 March 2024

India

Omicron's New variant: देश के इस राज्य में मिला ओमिक्रॉन का नया वेरिएंट, चौथी लहर की चेतावनी

24 April 2022 03:20 AM MegaDailyNews
राज्य,मंजूनाथ,बेंगलुरु,कोविड,लोगों,कर्नाटक,संख्या,स्वास्थ्य,मामलों,मामले,वेरिएंट,दिल्ली,मुंबई,सप्ताह,चेतावनी,omicrons,new,variant,found,state,country,warning,fourth,wave

कर्नाटक. कर्नाटक स्वास्थ्य विभाग ने बेंगलुरु में ओमिक्रॉन का सब-वेरिएंट बीए 2 के दो मामलों का पता लगाने के बाद राज्य में उभरती स्थिति से निपटने के उपाय तेज कर दिए हैं. राज्य में विशेष रूप से बेंगलुरु में टेस्टों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया गया है.

इन इलाकों में ज्यादा मामले 

अधिकारी चिंतित हैं कि बेंगलुरु के महादेवपुरा और पूर्वी क्षेत्रों से अधिक संख्या में कोविड के मामले सामने आ रहे हैं, जहां अधिकांश प्रमुख आईटी कंपनियां काम पर लाखों सॉफ्टवेयर पेशेवरों के साथ स्थित हैं. श्री जयदेव इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोवैस्कुलर साइंसेज एंड रिसर्च, बेंगलुरु के निदेशक सी.एन मंजूनाथ ने शनिवार को कहा कि राज्य में कोविड के बीए 2.10 और बीए 2.12 वेरिएंट पाए गए हैं.

पहले दिल्ली और मुंबई में मिले थे केस

बीए 2 वेरिएंट पहले नई दिल्ली और मुंबई में मिले थे. मंजूनाथ को लगता है कि कर्नाटक में तीन से चार सप्ताह में चौथी कोविड लहर शुरू होने की संभावना है. मंजूनाथ ने कहा, 'हालांकि, अगर चौथी लहर राज्य में आती है, तो अस्पतालों में भर्ती होने वाले लोगों की संख्या पहले की तुलना में कम होगी, हालांकि संक्रमण तेजी से फैलेगा.'

मंजूनाथ ने दी ये चेतावनी

उन्होंने चेतावनी दी, 'राज्य में अब कोई प्रतिबंध नहीं है और सभी गतिविधियां पूर्व-कोविड अवधि की तरह ही फिर से शुरू हो गई हैं. इसके परिणामस्वरूप अगले दो सप्ताह में कोविड के मामलों में वृद्धि होगी. लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है.' मंजूनाथ ने कहा कि दूसरी बीमारी से पीड़ित लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है, जबकि मास्क पहनना फिर से अनिवार्य कर दिया जाना चाहिए.

इन लक्षणों पर रखें नजर 

उन्होंने कहा कि लोगों को बुखार, खांसी और सर्दी के लक्षणों की उपेक्षा ना करने और जल्द से जल्द जांच कराने की भी सलाह दी. इससे पहले, कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने कहा था कि कुछ अध्ययनों से पता चला है कि कोविड-19 की चौथी लहर जून-जुलाई में शुरू हो सकती है और सितंबर तक चल सकती है और राज्य इसका सामना करने के लिए तैयार है.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News