Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Friday, 21 June 2024

Political News

'कलेजे पर पत्थर रखकर एकनाथ शिंदे को बनाया मुख्यमंत्री', महाराष्ट्र भाजपा प्रमुख का बयान

26 July 2022 12:37 PM Mega Daily News
शिंदे,फडणवीस,एकनाथ,भाजपा,सरकार,देवेंद्र,महाराष्ट्र,प्रदेश,पाटिल,मुख्यमंत्री,पार्टी,नेतृत्व,चंद्रकांत,फैसला,ठाकरे,eknath,shinde,made,chief,minister,placing,stones,liver,statement,maharashtra,bjp

एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में महाराष्ट्र में भाजपा और शिंदे की गठबंधन सरकार है। भले ही देवेंद्र फडणवीस ने एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में सरकार में काम करना कबूल लिया हो लेकिन प्रदेश भाजपा प्रमुख के गले से अभी तक यह बात नहीं उतर पाई है। चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि देवेंद्र फडणवीस की जगह एकनाथ शिंदे को मुख्यमंत्री बनाने का फैसला पार्टी ने कलेजे पर पत्थर रखकर लिया था।

महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल पनवेल में राज्य भाजपा की कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित कर थे। उस वक्त उन्होंने यह बातें कही। चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री बनाना निश्चित था लेकिन पार्टी को भारी मन से एकनाथ शिंदे को मुख्यमंत्री बनाना पड़ा। पाटिल ने हालांकि फिर सफाई देते हुए कहा कि यह फैसला सही संदेश देने के लिए लिया गया है। 

बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा में सबसे बड़ी एकल पार्टी भाजपा ने 30 जून को उस वक्त पूरे देश को आश्चर्यचकित कर दिया जब पार्टी की तरफ से पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने घोषणा की कि एकनाथ शिंदे ही महाराष्ट्र के अगले मुख्यमंत्री होंगे। फडणवीस ने आगे कहा था कि एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में महाराष्ट्र सरकार का विकास होगा और भाजपा उनके साथ हमेशा कदम-कदम पर रहेगी।

प्रदेश कार्यकारिणी को संबोधित करते हुए चंद्रकांत पाटिल ने कहा, “हमें एक ऐसा नेता देने की आवश्यकता है जो सही संदेश दे और प्रदेश की राजनीति में स्थिरता सुनिश्चित करे। केंद्रीय नेतृत्व और देवेंद्र जी ने भारी मन से एकनाथ शिंदे को सीएम के रूप में समर्थन देने का फैसला किया। हम नाखुश थे लेकिन निर्णय को स्वीकार करने का फैसला किया।”

गौरतलब है कि एकनाथ शिंदे उद्धव ठाकरे की शिवसेना से 40 विधायकों को अपने पाले में करने में कामयाब रहे और उद्धव ठाकरे की महा विकास अघाड़ी सरकार को गिरा दिया। शुरुआत से चर्चा आम थी कि शिंदे भाजपा के साथ गठबंधन में सरकार बनाएंगे। ऐसे कयास थे कि देवेंद्र फडणवीस सीएम होंगे और शिंदे डिप्टी सीएम। लेकिन, भाजपा ने बड़ा उलटफेर करते हुए शिंदे को प्रदेश की कमान सौंप दी और फडणवीस को डिप्टी सीएम।

फडणवीस को पीएम ने मनाया था

मीडिया रिपोर्ट्स हैं कि देवेंद्र फडणवीस भी पार्टी हाईकमान के इस फैसले से नाखुश थे। खुद प्रेस कांफ्रेंस के वक्त जब उन्होंने यह घोषणा की तो शिंदे भी उनकी तरफ देखते रह गए। फडणवीस ने पहले सरकार में रहने से साफ इनकार कर दिया था लेकिन, फिर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और पीएम नरेंद्र मोदी के आग्रह पर माने।

नहीं टिकेगी शिंदे सरकारः आदित्य ठाकरे

 एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शिवसेना के नेता आदित्य ठाकरे ने दावा किया कि एकनाथ शिंदे सरकार ज्यादा देर तक प्रदेश में नहीं टिक पाएगी। उन्होंने महाराष्ट्र में मध्यावती चुनाव की भविष्यवाणी भी की।

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News