Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Wednesday, 17 July 2024

Investment

घर बनाने वालों के लिए ताजा दौर राहत देने वाला, सरिया के दाम 1500 रूपये गिरे सीमेंट के दाम स्थिर

05 October 2022 11:24 AM Mega Daily News
सीमेंट,रुपये,सरिया,प्रति,अनुसार,निर्माण,दिनों,सरिये,लेकिन,बाजार,उतारचढ़ाव,लेटेस्ट,वालों,मुकाबले,शनिवार,fresh,round,relief,home,builders,house,prices,bars,fell,rs,1500,cement,stable

सरिया और सीमेंट लेटेस्ट दाम: आज फिर सरिया के दाम1500 रूपये गिरे सीमेंट के दाम स्थिर खाद्य वस्तुओं की महंगाई से भले ही लोग परेशान हैं, लेकिन घर बनाने वालों के लिए ताजा दौर राहत देने वाला दिख रहा है। निर्माण में काम आने वाली दोनों प्रमुख वस्तुएं सरिया और सीमेंट के दाम बीते दिनों के मुकाबले नरम पड़ चुके हैं। शनिवार को इंदौर बाजार में टीएमटी सरिया के दाम 56125 रुपये प्रति टन (बिना जीएसटी) रहे। लोहा व्यापारी युसुफ लोखंडवाला के अनुसार बीते दिनों से सरिये के दामों में आई तेजी कम हुई है। 17 अगस्त को ही सरिया के दाम 57625 रुपये प्रति टन थे। यानी तीन दिनों में ही इसमें 1500 रुपये टन की गिरावट आई है

सरिया और सीमेंट लेटेस्ट दाम:

गर्मियों यानी अप्रैल-मई के दौरान सरिया के दाम 70 हजार रुपये प्रति टन के भी पार पहुंच गए थे। इसी तरह सीमेंट के मौजूदा दाम भी नरम पड़े हुए हैं। प्रदेश सबसे बड़े सीमेंट वितरक हेमंत गट्टानी के अनुसार शनिवार को इंदौर में ब्रांडेड सीमेंट के दाम 360 से 370 रुपये प्रति बोरी रहे। जबकि औसत ब्रांड की सीमेंट 350 रुपये प्रति बोरी बिक रही है। सीमेंट के दाम अप्रैल अंत में 410 रुपये प्रति बोरी तक पहुंच गए थे। अब निर्माण करने वालों के लिए सीमेंट किफायती हो गई है।

पहले की तरह अब बारिश में निर्माण बंद भी नहीं करना पड़ते ऐसे में किफायती दाम का लाभ लेते हुए निर्माण कार्य तेजी से किए जा रहे हैं। गट्टानी के अनुसार तब महंगे होते कोयले के कारण सीमेंट कंपनियों ने दाम में वृद्धि की घोषणा की थी। हालांकि बाजार में आसार जताए जा रहे हैं कि दीपावली के आसपास सीमेंट के दाम फिर से एक बार बढ़ सकते हैं।

कांट्रेक्टर विनय देशपांडे के अनुसार किसी भी अच्छे निर्माण में सीमेंट और सरिये की लागत का हिस्सा 40 प्रतिशत तक होता है। फिलहाल प्रति वर्ग फीस सरिये का खर्च 225 रुपये और सीमेंट का खर्च 340 रुपये जोड़ा जा रहा है। दाम भले ही बीते दिनों के मुकाबले कम हुए हैं लेकिन अपेक्षा के अनुसार कम नहीं हुए हैं। कालोनाइजर मिलिंद तिवारी के अनुसार सीमेंट तो ठीक है लेकिन सरिये के बाजार में बीते दिनों से तेजी से उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है। यह व्यापार के लिए खतरनाक है। कांट्रेक्ट लेते समय दाम कुछ होते हैं और काम शुरू करते समय कुछ और। लोहा व्यापारी भी उतार-चढ़ाव के कारण भारी घाटा सह रहे हैं। दो साल पहले तक दामों में ऐसा उतार-चढ़ाव नहीं देखा जाता

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News