Breaking News
माधुरी दीक्षित के साथ जब इस अभिनेता ने कर दी थी गलत हरकत, फुट-फुटकर रोई थी माधुरी हेमा मालिनी और धर्मेंद्र पर टूटा दुखो का पहाड़, बेटी को लेकर आयी बेहद बुरी खबर, पूरा परिवार सदमे में मात्र 417 रुपये का निवेश बना सकता है करोड़पति, हो जायेंगे मालामाल, ऐसे समझे इन्वेस्टमेंट गणित Ration Card New Rule : मुफ्त राशन पर बदल गया नियम, गेहूं और चावल के लिए जरूरी करें यह काम Gold-Silver Price Today : सुबह – सुबह धड़ाम हुए सोने के दाम, खरीददारी करने टूटे लोग, गिरकर 47 हजार के नीचे पहुंच रेट
Monday, 26 February 2024

States

'ऑपरेशन ऑलआउट' को बड़ी कामयाबी, जम्मू कश्मीर में अब एक भी टॉप कमांडर आतंकी नहीं बचा

11 December 2022 03:47 PM Mega Daily News
कश्मीर,आतंकी,कमांडर्स,जम्मूकश्मीर,सुरक्षाबलों,ऑपरेशन,आतंकवाद,आतंकवादी,दिलबाग,युवाओं,पैगाम,जम्मू,ऑलआउट,खिलाफ,सुरक्षा,,operation,allout,big,success,single,top,commander,terrorist,left,jammu,kashmir

जम्मू कश्मीर (Jammu-Kashmir) में सुरक्षाबलों (Security Forces) ने जबसे ऑपरेशन ऑलआउट (Operation All out) चलाया है, तभी से आतंकवादियों के खिलाफ अभियान जोर-शोर से जारी है. दरअसल धारा- 370 हटने के बाद सेना, सुरक्षा बल, स्थानीय पुलिस (Jammu-Kashmir Police) और भारतीय खुफिया एजेंसियां आतंकवाद को जड़ से मिटाने के लिए बड़ी तेजी से काम कर रही हैं. आइए अब हम आपको बताते हैं कि कश्मीर में अबतक कितने आतंकवादी मारे जा चुके हैं.

कश्मीर में टॉप कमांडर्स के सफाये का साल

2022 में कश्मीर में आतंकी टॉप कमांडर्स का काल बनकर आया. जहां-जहां आतंकी कमांडर्स के छिपे होने की सूचना मिली. वहां-वहां पहुंचकर सुरक्षाबलों ने उन्हें फौरन जहन्नुम पहुंचा दिया. इस बीच जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह का दावा है कि इस साल अब तक कश्मीर में 44 टॉप कमांडर्स ढेर किए गए. उन्होंने ये भी कहा कि अब कश्मीर में एक भी टॉप कमांडर नहीं बचा है.

दिलबाग सिंह के मुताबिक जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद अपने निचले स्तर पर है. यानी आतंकी वारदातों में भी तेजी से कमी आई है. उन्होंने दावा किया है कि एक जिले को छोड़कर जम्मू के सभी ज़िले आतंकवाद से मुक्त हो चुके हैं. पूरे जम्मू-कश्मीर में आतंक के खिलाफ सुरक्षाबलों का ऑपरेशन लगातार जारी है.  

कश्मीरी युवाओं को पैगाम

इन दावों के बीच दिलबाग सिंह का कश्मीरी युवाओं को एक पैगाम भी है. वो पैगाम ये है कि पाकिस्तान की जासूसी और खुफिया एजेंसी ISI  आतंकवादी संगठनों के जरिए युवाओं का ब्रेनवॉश करने में लगी है. ऐसे में सावधान रहें, सतर्क रहें और ऐसी किसी भी साज़िश की सूचना सुरक्षा एजेंसियों को जरूर देकर, एक जिम्मेदार नागरिक का फर्ज निभाएं. 

आतंकियों का डेटा-

अक्टूबर 2022 तक कुल 176 आतंकी मारे गए हैं. इस साल अभी तक 50 विदेशी और अन्य स्थानीय आतंकी मारे गए हैं. जम्मू-कश्मीर में अभी भी करीब 134 सक्रिय आतंकवादी मौजूद हैं. जिनमें 83 विदेशी और 51 लोकल हैं, इसलिए सेना का ऑपरेशन ऑलआउट भी लगातार जारी है.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News