Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Thursday, 18 July 2024

Astrology

कमजोर चंद्रमा को पावरफुल बनाने के लिए इस शरद पूर्णिमा करें ये काम और पाए हर परेशानियों से मुक्ति

07 October 2022 07:54 AM Mega Daily News
चंद्रमा,पूर्णिमा,चांदी,बर्तन,चांदनी,ग्रहण,कुंडली,कमजोर,मिलेगी,लोगों,वृश्चिक,पात्र,निश्चित,अक्टूबर,make,weak,moon,powerful,work,sharad,purnima,get,freedom,troubles

यदि आपकी कुंडली में चंद्रमा कमजोर है तो निश्चित रूप से इस बार शरद पूर्णिमा, जो 9 अक्टूबर 2022 दिन पड़ रहा है, इस काम को जरूर करिए. इससे आपका चंद्रमा पावरफुल हो जाएगा. चंद्रमा के ताकतवर होने से आपको कई समस्याओं से मुक्ति मिलेगी. यूं तो प्रत्येक महीने में पूर्णिमा तिथि होती है, किंतु सभी पूर्णिमाओं में शरद पूर्णिमा का विशेष महत्व होता है. आश्विन मास में शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा या रास पूर्णिमा कहा जाता है. ज्योतिष शास्त्र की मान्यता के अनुसार, पूरे वर्ष में केवल इसी पूर्णिमा को चंद्रमा 16 कलाओं का होता है. इसे रास पूर्णिमा इसलिए कहा जाता है, क्योंकि इसी दिन योगेश्वर श्रीकृष्ण ने यमुना नदी के तट पर गोपिकाओं के साथ मुरली वादन करते हुए रास रचाया था.

चंद्रमा की कमजोरी से होने वाली परेशानियां

जिन लोगों की कुंडली में चंद्रमा कमजोर होता है या फिर नीच राशि वृश्चिक में हो अथवा राहू केतु का प्रभाव हो तो वह कई परेशानियों से ग्रस्त हो जाता है. ऐसे लोगों को सर्दी-जुकाम या खांसी यानी कोल्ड, एलर्जी, मां का स्वास्थ्य खराब, जल्दी से क्रोध आना, बात-बात पर चिड़चिड़ापन, मूड खराब हो जाना अथवा बीपी की परेशानी हो जाती है.

शरद पूर्णिमा में करें ये उपाय 

पूरी श्रद्धा और आस्था के साथ दूध, चावल, घी और चीनी तथा मेवे डालकर खीर तैयार कर लें. अब एक चांदी की थाली, तश्तरी या फिर कटोरी ले लें. चांदी के बर्तन न उपलब्ध हो तो पीतल या कांच के बर्तन का इस्तेमाल भी कर सकते हैं. एक पात्र में केसर को घिसकर रख लें और अनार के पेड़ की सूखी हुई लकड़ी को छीलकर कलम जैसा बना लें. अब इसी कलम से केसर से चांदी या किसी अन्य बर्तन में 'ओम चंद्र चंद्राय नमः' का मंत्र लिख दें फिर उसी पात्र में खीर को निकालकर चांदनी की रोशनी में किसी जालीदार कवर से ढककर रख दें. मध्य रात्रि में चंद्रमा से इसमें अमृत वर्षा होने दें और प्रातः उठकर प्रसाद के रूप में ग्रहण करें.

ये लोग करें चांदनी को ग्रहण

कर्क लग्न राशि में पैदा होने वाले तथा वृश्चिक राशि वालों को इस दिन एक दो घंटे चांदनी रात में चांद से निकलने वाली ज्योत्सना ग्रहण करनी चाहिए. इससे उन्हें बहुत लाभ होगा और चंद्रमा को पॉवर मिलेगी.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News