Breaking News
Cooking Oil Price Reduce : मूंगफली तेल हुआ सस्ता, सोया तेल की कीमतों मे आई 20-25 रुपये तक की भारी गिरावट PM Kisan Yojana : सरकार किसानों के खाते में भेज रही 15 लाख रुपये, फटाफट आप भी उठाएं लाभ Youtube से पैसे कमाने हुए मुश्किल : Youtuber बनने की सोच रहे हैं तो अभी जान लें ये काम की बात वरना बाद में पड़ सकता है पछताना गूगल का बड़ा एक्शन, हटाए 1.2 करोड़ अकाउंट, फर्जी विज्ञापन दिखाने वाले इन लोगो पर गिरी गाज Business Ideas : फूलों का बिजनेस कर गरीब किसान कमा सकते है लाखों रुपए, जानें तरीका
Wednesday, 17 April 2024

Sports

ऋद्धिमान साहा को धमकाने वाले फेमस पत्रकार बुरी तरह फंसे, स्टेडियम के अंदर जाने पर लगी रोक

25 April 2022 09:08 AM Mega Daily News
मजूमदार,पत्रकार,बोरिया,wriddhiman,saha,भारतीय,ऋद्धिमान,क्रिकेट,ट्विटर,उन्हें,boria,majumdar,ऑनलाइन,लगाया,मामले,,famous,journalist,threatened,got,trapped,badly,ban,entering,stadium

भारतीय टीम के दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) पिछले कुछ समय से काफी सुर्खियों में बने हुए हैं. साहा के साथ खेल पत्रकार बोरिया मजूमदार (Boria Majumdar) का विवाद हो गया था. दरअसल  ऋद्धिमान साहा ने पत्रकार बोरिया मजूमदार पर ऑनलाइन डराने-धमकाने का आरोप लगाया था. अब इस मामले में बोरिया को बड़ी सजा दी गई है. 

बुरी तरह फंसे बोरिया

IANS में छपी एक खबर में इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक कहा गया है कि खेल पत्रकार बोरिया मजूमदार (Boria Majumdar) को कथित तौर पर ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) टेक्स्ट मामले में दोषी पाया गया है और इसके लिए उन पर दो साल का बैन लगाया गया है. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा फरवरी में तीन सदस्यीय समिति गठित करने के बाद यह खबर आई है, जिसमें उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला, कोषाध्यक्ष अरुण सिंह धूमल और एपेक्स काउंसिल के सदस्य प्रभतेज सिंह भाटिया शामिल हैं. साहा ने इंटरव्यू के अनुरोध पर मजूमदार के धमकी भरे संदेशों का स्क्रीनशॉट पोस्ट करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया था.

स्टेडियम के अंदर जाने पर लगी रोक

बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, 'हम भारतीय क्रिकेट बोर्ड की सभी राज्य इकाइयों को उन्हें स्टेडियम के अंदर नहीं जाने देने के लिए सूचित करेंगे. उन्हें घरेलू मैचों के लिए मीडिया मान्यता नहीं दी जाएगी और हम उन्हें ब्लैकलिस्ट करने के लिए आईसीसी को भी पत्र लिखेंगे.' 19 फरवरी को, साहा (Wriddhiman Saha) ने चैट का स्क्रीनशॉट साझा करते हुए ट्विटर पर लिखा, 'भारतीय क्रिकेट में मेरे सभी योगदानों के बाद एक तथाकथित सम्मानित पत्रकार से मुझे अपमान का सामना करना पड़ा! यही वह है कि अच्छी पत्रकारिता चली गई है.'

ऑनलाइन धमकी का था मामला

चैट में संदेशों में से एक के रूप में पढ़ा गया, आपने कॉल नहीं किया. फिर कभी मैं आपका इंटरव्यू नहीं करुंगा. मैं अपमान नहीं सहता और मैं इसे याद रखूंगा.' रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि समिति के सामने आने पर साहा (Wriddhiman Saha) ने अंतत: मजूमदार को पत्रकार के रूप में पहचान की थी. मजूमदार ने अंतत: ट्विटर पर एक वीडियो के माध्यम से अपनी पहचान बताई और दावा किया कि वह साहा के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे.

whatsapp share facebook share twitter share telegram share linkedin share
Related News
Latest News